Black Friday 2022: भारत में ब्लैक फ्राइडे सेल शुरू, जानिए क्या है इसका इतिहास?

maxresdefault-1-166934501916x9.jpg


हाइलाइट्स

ब्लैक फ्राइडे अमेरिका द्वारा थैंक्सगिविंग मनाने के एक दिन बाद मनाया जाता है.
इस दिन लोग बेस्ट डिस्काउंट पाने की उम्मीद में खरीदारी करते हैं.
यह सेल मूल निवासियों को याद दिलाती है कि फेस्टिव सीजन शुरू हो रहा है.

नई दिल्ली. भारत में ब्लैक फ्राइडे सेल शुरू हो चुकी है और ब्रांड्स ने पहले ही अपने प्रोडक्ट्स को सेल में लिस्ट कर दिया है. इस सेल में इलेक्ट्रॉनिक्स, होम केयर डिवाइसो, कपड़ों और अन्य प्रोडक्ट्स पर भारी छूट मिल रही है. ब्लैक फ्राइडे सेल इससे पहले भारत में उपलब्ध नहीं थी. इसकी शुरुआत अमेरिका में हुई थी. हालांकि, इस बार यह भारत में भी उपलब्ध हो गई है. ब्लैक फ्राइडे सेल कई ई कॉमर्स वेबसाइट पर उपलब्ध हैं. बता दें कि ब्लैक फ्राइडे संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा थैंक्सगिविंग मनाने के एक दिन बाद मनाया जाता है. हालांकि, अब दुनिया भर में बाकी सभी लोग ब्लैक फ्राइडे मनाते हैं.

इस दिन लोग अलग-अलग प्रोडक्ट्स पर बेस्ट डिस्काउंट पाने की उम्मीद में खरीदारी करते हैं. आम तौर पर ब्लैक फ्राइडे पर स्टोर बहुत जल्दी खुलते हैं, कभी-कभी आधी रात या थैंक्सगिविंग पर. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस दिन को ब्लैक फ्राइडे क्यों कहा जाता है? अगर नहीं, तो चलिए हम आपको बताते हैं.

‘ब्लैक फ्राइडे’ क्या है?
ब्लैक फ्राइडे सेल यूएसए में थैंक्सगिविंग के ठीक बाद होती है, जो मूल निवासियों को याद दिलाती है कि आधिकारिक तौर पर फेस्टिव सीजन शुरू हो रहा है और आप क्रिसमस गिफ्ट के लिए की खरीदारी शुरू कर सकते हैं. यह सेल यूजर्स को उन प्रोडक्ट्स पर बेस्ट ऑफ़र और छूट देती है जो तेजी से बिक रहे होते हैं. यह डील विशेष रूप से इलेक्ट्रोनिक्स सामान पर मिलती है.

यह भी पढ़ें- Black Friday sale 2022: अमेजन पर होम एंटरटेनमेंट और ऑडियो प्रोडक्ट पर मिल रही शानदार डील

ब्लैक फ्राइडे का इतिहास और महत्व
ब्लैक फ्राइडे नाम को लेकर कई मिथक हैं. कई लोगों का मानना ​​है कि ब्लैक फ्राइडे का नाम इसलिए पड़ा क्योंकि रिटेल दुकानदारों को भारी छूट मिलती है और इससे उन्हें नुकसान होना बंद हो जाता है. इसके अलावा लोगों का यह भी मानना है कि ब्लैक फ्राइडे को इसका नाम फिलाडेल्फिया पुलिस से मिला.

हालांकि, रिपोर्ट्स के मुताबिक ब्लैक फ्राइडे का शॉपिंग से कोई लेना-देना नहीं है. 1950 के दशक में, फिलाडेल्फिया में पुलिस बलों ने थैंक्सगिविंग के बाद के दिन की अराजकता का वर्णन करने के लिए ब्लैक फ्राइडे शब्द का इस्तेमाल किया था. उस समय, सैकड़ों पर्यटक फुटबॉल खेल के लिए शहर में इकट्ठा होते थे और पुलिस के लिए सिरदर्द का कारण बनते थे.

Tags: Online Sale, Tech news, Tech News in hindi, Technology



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this:
Available for Amazon Prime